किसान आंदोलन में कोई किसान की मौत

आपको बता दें कि किसान अभी भी शंभू बॉर्डर पर अपनी मांगों को लेकर बने हुए हैं। अब तक किसानों की सरकार के साथ तीन बार बात हो चुकी है अब चौथे दौर की बात 18 फरवरी को होना तय हुई है। गुरुवार रात वाली बातचीत से अभी विवाद खत्म नहीं हुआ है। अब तक किसान नेताओं और सरकार के बीच में शांतिपूर्ण ढंग से बात को आगे बढ़ाने की बातचीत हुई है। किसान नेता जगजीत सिंह तड़के वाले कहा कि अभी तक आंदोलन इसी तरह बना रहेगा।

Read More : Click Here

बताया जा रहा है कि शुक्रवार को और भी किसान संगठन शामिल हुआ है। आंदोलन के बीच शंभू बॉर्डर पर एक किसान की मौत भी हो गई है। इस वजह से किसानों के बीच में बहुत ही ज्यादा हंगामा मच गया है। रिपोर्ट के अनुसार पता चला है कि 63 वर्षीय किसान की मौत दिल का दौरा पड़ने से हुई है।जिसने अपनी आखिरी सांसे पटियाला के राजेंद्र अस्पताल में ली।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *