खालिस्तान टाइगर फोर्स (KTF) के प्रमुख की हत्या: निज्जर की नागरिकता का रहस्य

कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रुडो ने निज्जर की हत्या की निंदा की, लेकिन नागरिकता का रहस्य अब उजागर हो रहा है।

हाल ही में कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रुडो ने खालिस्तान टाइगर फोर्स (KTF) के प्रमुख और आतंकवादी हरदीप सिंह निज्जर को ‘कनाडा का नागरिक’ बताया गया है। लेकिन यह बात उन्होंने नहीं बताई कि निज्जर कैसे कनाडा का बना? निज्जर एक फर्जी पासपोर्ट और रवि शर्मा के नाम की झूठी पहचान का उपयोग कर रहे थे।

वर्ष 1997 में, निज्जर को टोरंटो हवाईअड्डे पर गिरफ्तार किया गया था। उन्होंने तुरंत स्थायी पनाह के लिए आवेदन किया और बताया कि वे भारतीय पुलिस के हथियारों के निशाने पर हैं। लेकिन 11 दिनों के बाद उनकी शरणार्थी स्थिति से संबंधित विवाद हुआ। मुकदमा हारने के बाद भी, निज्जर को देश से नहीं निकाला गया।

जिस तरीके से निज्जर ने कनाडा की नागरिकता प्राप्त की थी, वह भी अज्ञात है।

हाल ही में हुए घटनाओं के अनुसार, निज्जर कनाडा में खालिस्तान टाइगर फोर्स (KTF) के प्रमुख बन गए थे। निज्जर के बारे में भारत में अनेकों आतंकी हमलों का दोष लगाया गया था। 2023 में निज्जर की हत्या की खबरें आईं, जिसमें बताया गया था कि इसके पीछे भारतीय एजेंटों की एक टीम है।

Read More: Click Here

इस संबंध में, कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रुडो ने निज्जर की हत्या को निंदा की है और इस आतंकी हमले के पीछे से होने वाली सभी संभावनाओं की जाँच की चर्चा की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *