Justice for JNU women

जेन्यु की छात्राओं के सामने वॉक कर रहा था नग्न व्यक्ति, क्या लिया उस पर एक्शन।

जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय में यौन उत्पीड़न की यह घटना सामने आई है। सूत्रों के अनुसार बताया जा रहा है कि विश्वविद्यालय के प्रशासनिक ब्लॉक से नजदीक बस स्टॉप के पास एक अज्ञात व्यक्ति को नग्न पाया गया है। कथित तौर पर बताया जा रहा है कि वह महिलाओं को घर रहा था और गंदे इशारे कर रहा था, जब स्टूडेंट्स को इस बारे में पता चला तो उन्होंने इस पर विरोध प्रदर्शन किया और गेट पर सुरक्षा बढ़ाने की मांग की।

खतरों ने बताया कि जब वह इस तरह की हरकतें कर रहा था तो गार्ड वहां पर बैठे थे परंतु उन्होंने कुछ भी नहीं कहा तो आरोपी आराम से भाग निकला।

ऐसे ही आरोपी के बारे में पता चला तो जेएनयू प्रशासन ने छात्रों को अलर्ट कर दिया और कहा कि वह सतर्क रहें और इसके लिए एक एडवाइजरी जारी की:

JNU सुरक्षा शाखा के संज्ञान में आया है कि एक अज्ञात व्यक्ति सार्वजनिक तौर पर नग्न हो कर घूम रहा है. हम इस कृत्य की कड़ी निंदा करते हैं.विश्विद्यालय, परिसर में सभी स्टेकहोल्डर्स को आश्वस्त करना चाहता है कि इस तरह के किसी भी आक्रामक कृत्य को हम बर्दाश्त नहीं करेंगे. जैसे ही ये घटना हमारे संज्ञान में आई, सुरक्षा यूनिट ने अपराधी की पहचान करने के लिए काम शुरू कर दिया है.”

जानकारी में प्रशासन ने पुलिस को सूचित कर दिया कि छात्रों को कहा गया कि उन्हें सतर्क रहें और कोई भी अगर इस तरह की हरकत करते सामने पाया गया, तो वह तुरंत यूनिवर्सिटी की सुरक्षा शाखा को बताएं।आपको बता दे की यूनिवर्सिटी के छात्रों नहीं हो रहे यौन उत्पीड़न को लेकर बहुत चिंता जताई है।

Read More : Click Here

अश्लीलता और नग्नता को लेकर कोई कानून है?

भारतीय दंड संहिता की धारा 294 के अनुसार सार्वजनिक स्थान पर अश्लील या बयान दंडनीय अपराध है। अगर कोई व्यक्ति दूसरों को अश्लील तरीके से देख रहा है या कोई अश्लीलता का कार्य करता हुआ दिखाई देता है यह भी अपराध माना जाता है। जो भी इस तरह का कार्य करता हुआ पाया गया उसे 3 महीने की जेल हो सकती है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *