PM मोदी करेंगे देश के सबसे लम्बे समुद्री पुल का उद्घटान

प्रधानमंत्री मोदी 12 जनवरी को देश कि सबसे लम्बे समुद्री पुल का उद्घाटन करेंगे। प्रधानमंत्री मोदी जी अपनी महारष्ट्र यात्रा के दौरान मुंबई ट्रांस हार्बर लिंक का उद्घाटन करेंगे। इस पुल का आधिकारिक नाम अटल बिहारी बाजपेयी सेवरी – न्हावा सेवा अटल सेतु है , इस कार्यक्रम के दौरान महारष्ट्र के मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे में शामिल होंगे।
रिपोर्ट के अनुसार अटल सेतु को बनाने में 17,840 करोड़ रूपए का व्यय हुआ है इसकी लम्बाई 22 किमी है जो कि छः लेन में डिवाइड है।जिसका 16.5 किलोमीटर का हिस्सा समुद्र के ऊपर है और 5.5 किलोमीटर जमीन पर.और इसे देश का सबसे लम्बा समुद्र पुल भी कहा जा रहा है। ऐसा कहा जा रहा है इस पुल से रोजाना सत्तर हजार गाड़ियां गुजरेंगी

ये पुल कि लम्बाई मुंबई अंतराष्ट्रीय हवाई अड्डे और नवी मुंबई अंतराष्ट्रीय हवाई अड्डे कि दूरी को कम करेगा। इसके साथ ही मुंबई से पुणे, गोवा और साउथ इंडिया कि यात्रा को भी कम करने में मदद करेगा। इससे मुंबई बंदरगाह और जवाहर लाल नेहरू बंदरगाह के बीच कि कनेक्टिवटी भी अच्छी होगी।

Read More: Click Here

ऐसे अनुमान लगाए जा रहे हैं कि इन सब के बाद मुंबई और नवी मुंबई के बीच कि यात्रा का समय कम हो जायेगा। इससे पहले यात्रा के ट्रैफिक में दो घंटे का जाम लग जाता है। जैसे ही ये पुल शुरू हो जाएगा तो ये रस्ता बीस में तय हो जायेगा। MTHL के निर्माण में लगभग 177,903 मीट्रिक टन स्टील और 504,253 मीट्रिक टन सीमेंट का उपयोग किया गया है.

कितनी है स्पीड लिमिट

अटल सेतु पुल पर चार पहिया वेहिकल के लिए अधिकतम 100 किमी प्रति घंटा तय की गई है. न्यूज एजेंसी के मुताबिक, इस पर मोटरसाइकिल, ऑटोरिक्शा और ट्रैक्टरों का परिचालन अमान्य रखा जाएगा. कारों, टैक्सियों, हल्के मोटर वाहनों, मिनी बसों और टू-एक्सल बसों के लिए गति सीमा 100 किमी प्रति घंटे होगी. लेकिन इसकी लिमिट पुल पर चढ़ने और उतरने पर इसे घटाकर 40 किमी प्रति घंटे करना होगा. इसके साथ सेतु पुल पर चलने का टोल टैक्स 250 तय हुई है। मुंबई महानगर प्रदेश विकास प्राधिकरण ने पहले इसका रेट 500 रुपये का टोल टैक्स तय किया था. फिर 4 जनवरी की बैठक में टैक्स को घटा कर कम कर दिया गया.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *