West bengal bulding collapse

अवैध तरीके से बनाई गयी दस मंजिला इमारत गिरने से दो की मौत और 10 लोग घायल

आपको बता दें ए दिन कोई न कोई घटना घटती ही रह रहती है ऐसी ही एक खबर आयी है वेस्ट बंगाल के कोलकाता से जहां पांच मंजिला बिल्डिंग के ढहने से 2 लोगों मौके पर ही मौत हो गई है। और जब तक खबर लिखी गयी तब तक कम-से-कम 10 लोगों को मलबे से बाहर निकाला गया है। इसके बाद इन सब लोगो को इलाज के लिए कलकत्ता मेडिकल रिसर्च इंस्टीट्यूट में एडमिट कराया गया। इसके साथ मलबे में कई और भी लोगों के फंसे होने की आशंका जताई जा रही है। उन्हें बचने के बचाव अभियान चलाया जा रहा है।

सूत्रों के अनुसार घटना की पुष्टि हजारी मोल्ला बागान इलाके की हुई है। 17 और 18 मार्च के मध्य रात्रि को यहां बिल्डिंग से कंक्रीट के कुछ टुकड़े अचानक से गिरने लगे, फिर देखते ही देखते पूरी बिल्डिंग गिरने लग पड़ी। बुल्डिंग का कुछ हिस्सा टूट कर आस पास की जुग्गी झोंपड़ी में गिर पड़ा। इस दुर्घटना से दो लोगों की मौत हो गयी और अब तक मरे हुए लोगों की पहचान नहीं हो पायी है।

कोलकाता के पुलिस कमिश्नर ने मोके पर पहुचंह कर जगह का जायजा लिया , एक पुलिस अधिकारी ने बयान में कहा की :
“मलबे में कुछ और लोग फंसे हो सकते हैं, हमने कुछ लोगों को बचाया है. बचाव अभियान अभी भी जारी है। “

आसपास के लोगों ने कहा की जैसे ही बिलिडिंग गिरी तो बहुत बुरी हाल से धुएं के बदल छा गए। और बहुत जोर से आवाज आयी इतना ही नहीं बिल्डिंग के गिरने से सारा मलबा आसपास के झोंपड़ी पर जा गिरा। आसपास के लोगों का कहना की इस बुलिडिंग को गैर क़ानूनी ढंग से निर्मित किया गया था और साथ ही उनका बयान आया कि:

Read More: Click Here


“हालांकि, निर्माणाधीन बिल्डिंग में कोई नहीं रहता था. लेकिन ये बगल की झुग्गियों पर गिर गई. हमें डर है कि मलबे के नीचे अब भी कई लोग फंसे हो सकते है। “

बीजेपी के विधायक और विपक्ष नेता सुवेंदु अधिकारी ने इस घटना से जुड़ा हुआ एक ट्वीटर पर पोस्ट डाला:
“हजारी मोल्ला बागान के गार्डन रीच- मेटियाब्रुज, केएमसी वार्ड नंबर 134 में अवैध रूप से बनी 5 मंजिला इमारत ढह गई है। यह विशेष क्षेत्र कोलकाता के माननीय मेयर और नगरपालिका मामलों के मंत्री के तथाकथित ‘गढ़’ के अंदर आता है। ”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *